Friday 16 March 2012

मेरे भारत रत्न, नई खुशियाँ नित पाओ --

जीते जो तेदुलकर, जो मारे सो मीर ।
शतक मीरपुर में लगा, कब से सभी अधीर ।
 
Sachin Tendulkar celebrates after he scored his 100th international century during their Asia Cup one- day international.
कब से सभी अधीर, बजट ने बहुत रुलाया ।
सही समय पर शतक, सचिन ने धैर्य बंधाया ।
 
मेरे भारत रत्न, नई खुशियाँ नित पाओ ।
रहो हमेशा स्वस्थ, सदा भारत हरसाओ ।।  

5 comments:

  1. badhai Ravikar ji.....sachin ji ne satakon ka satak lagay .

    ReplyDelete
  2. सचिन के १०० वें सतक की बधाई,.....

    ReplyDelete
  3. आपकी कविताई की धार पैनी होती जा रही है एकदम से...बधाई स्वीकार करें

    ReplyDelete
  4. वाह क्या बात है बहुत खूब लिखा है आपने बधाई

    ReplyDelete

लिखिए अपनी भाषा में

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...